अंतागढ़ के विधायक अनूप नाग और पूर्व विधायक मन्तु राम पवार खेमें के बीच हुआ मुकाबला:-

पखांजूर से बिप्लब कुण्डू-

पखांजूर–
जिला वनोपज सहकारी संघ पश्चिम भानुप्रतापपुर की चुनाव सम्पन्न हुआ,इस चुनाव में विपक्षी पार्टी भाजपा चुनावी मैदान से बहार थी,बल्कि पहले बार जिला वनोपज संघ के चुनाव में देखने को मिला,अंतागढ़ के विधायक अनूप नाग और पूर्व विधायक मन्तु राम पवार खेमें के बीच मुकाबला हुआ,प्रथम चरण में 11 सदस्यों का चुनाव में 8 सदस्य पवार खेमें और मात्र 3 सदस्य अनूप नाग के जीते,जब की दुसरे दौर के चुनाव सत्ता और विधायक के लिए महत्वपूर्ण था, चुकी अध्यक्ष,उपाध्यक्ष,और अन्य सहकारी सोसाईटी प्रतिनिधियों के लिए सम्पन्न था,चुनावी घोषणा होते ही क्षेत्रीय विधायक अनूप नाग के साथ-साथ कांग्रेस के कार्यक्रताओं ने भी सदस्यों के उपर दबाव बनाकर पुरी ताकत झोंक दी,पर मन्तु राम पवार का (र्निरदली) खेमें के सामने कुछ भी नहीं चला,और पूर्व विधायक पवार के चचरे भाई सुकलाल देहारी ने अपने प्रतिद्वंदी सियाराम पुड़ो को 8 वोट से प्राजित किया,तथा उपाध्यक्ष में दिप्ति मजूमदार ने भी विधायक खेमें से बना उम्मीदवार लक्ष्मण देवनाथ को 6 वोटों से हराया,एवं असीम राय छ.ग.राज्य सहकारी संघ रायपुर के लिए र्निरविरोध र्निवाचित हुआ,और मिहिर राय अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी हरिदास सरकार को 7 वोटों के अंतर से पराजित कर दिया,एक मात्र सदस्य जयलाल प्रधान पवार खेमें से नांमाकन भर कर,अंत में दबाव पर आकर विधिका मंडल के पक्ष में नाम वापस लेकर अपने पैनल को धोखा दिया,जसके चलते अनूप नाग खेमें से एक मात्र सदस्य जिला केन्द्रीय सहकारी संघ जगदलपुर को गया,कहना अतिसंयोक्ति नहीं होगा जिला वनोपज संघ के चुनाव में (र्निरदली) पवार खेमें सतारूढ़ पार्टी से भारी रहा तथा पूर्व विधायक मन्तु राम पवार के अंतागढ़ विधानसभा में आज भी पकड़ मजबूत मानी जाति है,और निरन्तर जनता के बीच सम्पर्क बनाये रहते हैं, उनके धुआं धार दौरे से हल-चल मचा हुआ है आने वाले 2023 का विधानसभा में र्निरदली चुनाव लड़ने की संकेत है यदि ऐसा हुआ तो सब से जादा कांग्रेस को नुकसान होगा,तथा भाजपा के लोगों से भी पवार का सम्बंध अच्छा है,चुकी कांग्रेस ओर भाजपा के सदस्यों भी पवार के सम्पर्क में रहते हैं,ऐसे में दोनो राष्ट्रीय पार्टी को पवार सोचने के लिए मजबूर कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.