लाखो रुपए के निर्माण कार्यों का विधायक नाग ने किया लोकार्पण, देवगुड़ी निर्माण की हुई घोषणा

पखांजूर से बिप्लब कुण्डू–

अतिरिक्त कक्ष, रंगमंच एवं आहता निर्माण का विधायक ने किया लोकार्पण–

छत्तीसगढ़ सरकार की विधायक ने गिनाई उपलब्धियां, बोले साढ़े 3 वर्षो में हुआ सर्वांगीण विकास–

ग्रामीणों से बोले विधायक आपका प्रेम और विस्वास ही मेरी जीवन की असल पूंजी–

रविवार को अंतागढ़ विधायक अनूप नाग ग्राम पंचायत मासबरस के आश्रित गांव इर्राबोडी में विभिन्न विकास कार्यों के लोकार्पण कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल होने पहुंचे । जहां विधायक नाग का ग्रामीणों द्वारा रीति रिवाज से भव्य स्वागत किया गया।

विधायक अनूप नाग ने शासकीय हाई स्कूल मासबरस में 3 लाख 63 हजार रुपए की लागत से निर्मित आहता निर्माण कार्य, दुगापराली के प्राथमिक शाला में 5 लाख रुपए की लागत से निर्मित अतिरिक्त कक्ष एवं मासबरस में ही 2 लाख रुपए की लागत से निर्मित रंग मंच का लोकार्पण कर ग्रामवासियों को समर्पित किया साथ ही विधायक ने ग्रामीणों की मांग पर देवगुड़ी निर्माण की भी घोषणा की ।

विधायक नाग ने इस दौरान ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा की पिछले साढ़े तीन वर्षो से मैं एक विधायक के रूप में आपकी सेवा कर रहा हूं मैं कोई बड़ा आदमी नहीं हूं आप जनता हो मैं आपका सेवक हूं परंतु मुझे कभी ऐसा लगा ही नहीं की मैं आपसे अलग हूं बुजुर्गो ने हमेशा एक बेटे की तरह, मेरी बहनों ने हमेशा एक भाई की तरह, मेरे भाइयों ने एक मित्र की तरह एवं मेरे प्यारे बच्चो ने मुझे हमेशा एक अंकल की तरह प्यार दिया है यही मेरी जीवन की असल पूंजी है इस प्रेम और विस्वास के आगे मैं सदैव नतमस्तक रहूंगा ।

वनोपज़ संग्रहण में छत्तीसगढ़ पिछले तीन वर्षों से पूरे देश में अव्वल

इसके पश्चात विधायक नाग ने राज्य सरकार की उपलब्धियों के बारे में बताते हुए कहा की वनोपज़ संग्रहण में छत्तीसगढ़ पिछले तीन वर्षों में लगातार पूरे देश में अव्वल रहा है. वनोपज से आर्थिक सशक्तिकरण को बढ़ावा मिला है. आदिवासियों के जनजीवन में बदलाव परिलक्षित हुआ है. इसके साथ ही राज्य को वनोपज संग्रहण और प्रसंस्करण में 11 राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिले है जो हमारे लिए गौरव का विषय है उन्होंने कहा की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना और गोधन न्याय योजना के जरिये जिस समृद्धि की नींव रखी थी, अब वह साकार हो रही है. ग्रामीणों के जीवन में अब बदलाव आने लगा है,किसान जैविक खेती की ओर लौटने लगे हैं ।

मंदी के दौर में छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था मजबूती से टिकी रही – नाग

विधायक नाग ने आगे बताया की मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में ‘छत्तीसगढ़ मॉडल’ जनसशक्तीकरण से आर्थिक विकास की इबारत लिखी है. मंदी के दौर में भी छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था मजबूती से टिकी रही. दरअसल ग्रामीण क्षेत्र में आर्थिक मजबूती के लिए नई दिशा में कामकाज किया गया । भूपेश सरकार ने स्वरोजगार और आजीविका संबंधी गतिविधियों पर फोकस किया । उन्होंने बताया तीन वर्षों में छत्तीसगढ़ी अस्मिता और स्वाभिमान लौटाने के कदम उठाए. हर वर्ग को अपने प्रदेश की भावना से और विकास की मुख्यधारा से जोड़ने की पहल की गई । राजीव गांधी किसान न्याय योजना और गोधन न्याय योजना के जरिये हितग्राहियों के खाते में नगद हस्तांतरण से अर्थव्यवस्था को काफी मजबूती मिली. जैविक खेती से लागत हुई आधी, उत्पादन भी दो से तीन गुना तक बढ़ा ।

बढ़ती महंगाई के दौर में सस्ती दवाओं के माध्यम से राहत

विधायक ने कहा लगातार बढ़ती महंगाई के दौर में सस्ती दवाओं के माध्यम से राहत देने की योजना भूपेश सरकार ने लागू की है. छत्तीसगढ़ सरकार ने महंगी ब्रांडेड दवाओं की जगह सस्ती जेनेरिक दवाओं के लिए श्री धन्वंतरी जेनेरिक मेडिकल स्टोर योजना शुरू की. इस मेडिकल स्टोर में जेनेरिक दवाएं 50 से 70 फीसदी सस्ते दामों पर मिल रही है ।

ये रहे मौजूद

सरपंच पदमा पदमाकर, शेख शरीफ कुरेशी, लहेंद्र वर्मा, गोलू नायक, दिलीप सरकार, परदेसी राम उईके, मनीष मंडावी, चंदन सिंह उईके, सरादू राम उईके, बुधराम उईके, परऊ राम दर्रो, लच्छन उईके, साहदू राम उईके, रमेश कुमार बघेल समेत सैकड़ों ग्रामीण मौजूद थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.