अग्निपथ योजना वापस लेने कांग्रेस ने दिया धरना, विधायक अनूप नाग ने जमकर घेरा केंद्र को,

पखांजूर से बिप्लब कुण्डू-

विधायक नाग बोले किसानों की तरह युवाओं से माफी मांगे प्रधानमंत्री मोदी

केंद्र की घमंडी सरकार को झुकना पड़ेगा, हम युवाओं के साथ है – कांग्रेस

पखांजूर–
आज कांग्रेस के देशव्यापी अग्निपथ योजना वापस लेने के धरना प्रदर्शन के तहत अंतागढ़ में विधायक अनूप नाग की अध्यक्षता में कांग्रेस ने केंद्र सरकार के खिलाफ धरना देकर केंद्र सरकार और अग्निपथ योजना के खिलाफ जमकर नारेबाजी की ।

विधायक अनूप नाग ने धरना प्रदर्शन को संबोधित करते हुए केन्द्र सरकार से ‘अग्निपथ’ योजना को तुरंत प्रभाव से वापस लेकर सेनाओं में नियमित भर्ती से खाली पड़े पदों को भरने की मांग की है । सोमवार को यहां अंतागढ़ में नाग ने कहा कि सरकार नकलची बंदर की तरह दूसरे देशों की नीतियों की नकल कर भारत पर थोप रही है। उसे समझना पड़ेगा कि इजरायल की परिस्थितियां भारत में लागू नहीं हो सकती । किसी दूसरे देश में फौज में भर्ती होना युवाओं के जीवन का पहला लक्ष्य नहीं होता, जैसे भारत में किसान-गरीब के घर पैदा हुए युवा का होता है।

कांग्रेस विधायक ने केन्द्र पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘वन रैंक, वन पेंशन’ का नारा देकर सत्ता में आई भाजपा सरकार अब ‘नो रैंक, नो पेंशन’ की नीति लाकर युवाओं के भविष्य व हितों पर कुठाराघात कर रही है। सरकार सोचती है कि कमर्शियल कारणों से लोग फौज में जाएंगे, कॉन्ट्रैक्ट पर काम करेंगे, आगे कॉन्ट्रैक्ट के आधार फौज को चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार युवाओं के भविष्य को चौपट और देश की सेना को कमजोर करने वाला कदम न उठाएं । केंद्र सरकार ने जैसे किसानों से माफी मांगकर तीनों कानून वापस लिए, वैसे ही युवाओं से माफी मांगकर अग्निपथ योजना वापस ले। यह योजना न तो राष्ट्र सुरक्षा के हित में है, न ही युवाओं के भविष्य के हित में है। उन्होंने देश के नौजवानों से आग्रह किया कि वे शांति और संयम रखें, कोई गलत कदम न उठाएं । इस लड़ाई को हम मिलकर लड़ेंगे, केंद्र की घमंडी सरकार को झुकना ही पड़ेगा। इससे देश की फौज कमजोर होती दिखाई देगी, उसका हम पुरजोर विरोध करेंगे।

पंद्रह साल में आधी रह जाएगी हमारी फौज : नाग

विधायक अनुप नाग ने कहा कि ‘अग्निपथ योजना’ लागू करने के निर्णय से देशभर के युवाओं में निराशा, मायूसी और गहरा रोष है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार हर साल 2 करोड़ रोजगार देने के वादे में विफल हो गई तो वादे से ध्यान भटकाने के लिए ही अग्निपथ योजना लेकर आई और 10 लाख रोजगार देने का शिगूफा छोड़ दिया।

इस योजना के आधार पर हमारे देश की फौज का संख्याबल आधा हो जाएगा। अभी हर साल फौज में 60 से 80 हजार भर्तियां होती थीं। अब हर साल 40-50 हजार भर्ती होगी, जिसमें से 75 प्रतिशत अग्निवीरों को 4 साल बाद निकाल दिया जाएगा। इस हिसाब से अगले 15 साल में हिन्दुस्तान की करीब 14 लाख की फौज का संख्याबल घटकर आधा से भी कम रह जाएगा।

भर्ती रोकने व रोल बैक की मांग

ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष अखिलेश चंदेल ने कहा कि केन्द्र की अग्निपथ स्कीम में अग्निवीर सैनिकों की भर्ती रोकने और रोल बैक की मांग को लेकर कांग्रेस पार्टी देशभर में धरना प्रदर्शन कर रहीं है । उन्होंने कहा कांग्रेस पार्टी अपनी मांगे को रख रही हैं कि केन्द्र अग्निवीर योजना को वापस ले।

युवाओं के जले पर नमक छिड़क रहा केन्द्र: चंदेल

अखिलेश चंदेल ने आगे बताया कि कई जगह युवाओं ने लिखित परीक्षा भी पास कर ली थी और नियुक्ति का इंतजार कर रहे थे। उन्हें भी अग्निपथ योजना में फिर से आवेदन करने को कह दिया गया। केन्द्र की भाजपा सरकार युवाओं के जले पर नमक छिड़कने का काम कर रही है।

चंदेल ने कहा कि देश के सैनिक भारत विपरीत परिस्थितियों में सीमाओं पर तैनात रहते हैं। ऐसे वीर युवाओं से अग्निपथ के नाम पर केन्द्र सरकार द्वारा धोखा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि केन्द्र के अधीन विभागों में 62 लाख, 29 हजार पद खाली हैं। सेना में ढाई लाख से अधिक पद खाली हैं। ऐसे में युवकों को ठेके पर सेना में लेना और 4 वर्ष बाद 25 फीसदी युवाओं को रिजेक्ट कर हटा देना, युवाओं के साथ अन्याय है।

ये रहे मौजूद

ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष अखिलेश चंदेल, वरिष्ठ कांग्रेसी मुकेश ठक्कर, जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष दुर्गेश ठाकुर, जिला कांग्रेस मिडिया प्रभारी विश्राम गावड़े, जनपद पंचायत अध्यक्ष बद्री गावड़े, किशोर मरकाम, श्रवण यादव, लखन कश्यप, अंकालू राम पवार, मुनीर खान, अनिस खान, विक्रम भंडारी, प्रेम उदनेर, दिलीप सरकार, रफीक खान, युवा नेता चंद्रज्योत रामटेके, निर्मल जैन, रामकुमार जैन, दयाराम दुग्गा, वीरेंद्र पटेल, राकेश गुप्ता, कुबेर चूरपाल समेत सैकड़ों कांग्रेसी कार्यकर्ता मौजूद थे ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.