भानुप्रतापपुर में पिछड़ा वर्ग ने दिखाई ताकत, अधिकारों की मांग के लिए निकली विशाल रैली।

Spread the love

पखांजुर से बिप्लब कुण्डू/

भानुप्रतापपुर में 18 अक्टूबर को आयोजित पिछड़ा वर्ग की सभा व रैली में समाज का जनसैलाब उमड़ पड़ा, उमड़े जनसैलाब से पिछड़ा वर्ग की ताकत भी देखने को मिली। यह जनसैलाब एकजुट बना रहा तो यह तय है कि सरकार को इनकी माँगों को पूरा करना पड़ेगा। जनसैलाब इतना उमड़ पड़ा कि लोगों ने चटाई बिछाकर सड़क पर ही बैठ गए, जिससे भानुप्रतापपुर से कांकेर का आवागमन कई घंटे तक बाधित रहा।
भानुप्रतापपुर के विश्राम ग्रह के सामने खाली मैदान में सभा का आयोजन हुआ।

सभा को संबोधित करते हुए जगन्नाथ साहू ने कहा यह हमारा संगठन गैर राजनैतिक है, हमारा पूरी आबादी 52 प्रतिशत है, इस हिसाब से हमे अधिकार नहीं मिल रहा है।

हरेश चक्रधारी ने कहा ओबीसी को सरकारों ने उपेक्षित किया है। हम अपनी अधिकार के लिए हमेशा आगे आना होगा। अरविंद जैन ने कहा आज की इस अधिकार रैली में कोई नेता नही है, इस बार संगठन ग्राम पंचायत स्तर से बनाया गया है।

। युवराज पटेल ने कहा आज जो एकता आप सब नई दिखाई है अपनी अधिकार की लड़ाई के लिए आगे हमेशा तैयार रहना है।


आयोजित सभा के बाद रैली विश्राम गृह से अस्पताल रोड़ होते हुए अंतागढ़ रोड़ से मुख्य चौक आई फिर बस स्टैण्ड होते हुए साप्ताहिक बाजार स्थल पहुँचकर वनोपज नाका दल्ली रोड़ से फिर मुख्य चौक में अपने 6 सूत्रीय अधिकारों को लेकर आवाज बुलंद किया। इस रैली में लगभग 20 से 22 हजार समाज के लोग एकत्रित हुए। सात सूत्रीय मांगो को लेकर मुख्य चौक में ही एसडीएम जितेंद यादव को ज्ञापन सौपा। इस अधिकार रैली में भानुप्रतापपुर, दुर्गुकोंदल, अंतागढ़, कोयलीबेड़ा, पखांजूर, आमाबेड़ा, चारामा, काँकेर, नरहरपुर के आलावा कोंडागांव के भी ओबीसी वर्ग के बड़ी संख्या लोग शामिल हुए।

error: Content is protected !!