कांग्रेस के खिलाफ अब ओबीसी ने खोला मोर्चा,भानुप्रतापपुर में आम सभा के साथ निकाली विशाल रैली।

Spread the love

पखांजुर से बिप्लब कुण्डू//


छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले में कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद यह पहली बार है जब जिले में ओबीसी एकजुट होकर अपनी मांगों को लेकर मुखर हो रहे हैं. 5 हजार से ज्यादा की संख्या में ओबीसी एकजुट हुए हैं निकली रैली।
ये हैं मांगे।


ओबीसी की प्रमुख मांगों में छतीसगढ़ राज्य में पिछड़ा वर्ग के 52 फीसद, आबादी के आधार पर 27फीसद आरक्षण दिए जाने, छतीसगढ़ राज्य में पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग स्वतंत्र मंत्रालय की स्थापना किए जाने, पिछड़ा वर्ग को परंपरागत वनवासी होने के नाते पांचवी अनुसूची में शामिल किए जाने, राज्य के त्रिस्तरीय पंचायत व्यवस्था में भारत सरकार के जनसंख्या गणना के आधार पर जिन ग्राम पंचायतों में पिछड़ा वर्ग के बहुलता है, ऐसे ग्राम पंचायत में पिछड़ा वर्ग के सरपंच का पद आरक्षित किए जाना. ये सारी मांगों को लेकर भानुप्रतापपुर में विशाल रैली निकाली गई है ।


शिक्षा संबंधित भी है मांग।
छत्तीसगढ़ सरकार एवं भारत सरकार द्वारा प्राथमिक शिक्षा से लेकर कॉलेज की पढ़ाई के लिए संचालित सभी आश्रम-छात्रावास में पिछड़ा वर्ग, छात्र-छात्राओं के लिए 27 फीसद आरक्षण किए जाने सहित कई मांगे शामिल है।

error: Content is protected !!