सदर बाजार स्थित सराफा दुकान में पुलिस का छापा, चोरी का जेवर गलाने का संदेह

Spread the love

मो नासीर

बिलासपुर के सदरबाजार स्थित सराफा दुकान में गुरुवार की सुबह पुलिस ने छापा मारा। सराफा व्यापारी जेवर गलाने का काम करता है। पुलिस को शक है वह चोरी के जेवरों की भी गलाई करता है। उसके पास से सोने व चांदी के बड़े टुकड़े जब्त कि गए हैं। व्यापारी से पूछताछ की जा रही है।
सिटी कोतवाली सीएसपी स्नेहिल साहू व टीआई शीतल सिदार को सूचना मिली कि कोतवाली क्षेत्र के सदर बाजार गोंडपारा निवासी नवनाथ एवले (33) जेवर गलाने का काम करता है। वह शैव आर्ट सिल्वर रिफाइनल के नाम से दुकान संचालित करता है। नवनाथ मूलत: महाराष्ट्र के सांगली जिले का रहने वाला है। नवनाथ चोरी के जेवरों को भी गला कर उसे सिल्ली बनाकर बेचता है। इस पर पुलिस ने गुरुवार की सुबह उसके दुकान में दबिश दी। करीब दो घंटे तक पुलिस ने उसकी दुकान की तलाशी ली, जहां उसके पास से सोने व चांदी के गले हुए टुकड़े मिले हैं। पुलिस की प्रारंभिक पूछताछ में नवनाथ ने सोने-चांदी का बिल होने का दावा किया है। पुलिस उससे मिले सोने-चांदी को जब्त कर बिल की जांच कर रही है। वहीं, संदेही नवनाथ से पूछताछ में जुटी हुई है। TI सिदार ने कहा कि अभी मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी।
शहर में खप रहे चोरी के जेवर

पुलिस अफसरों ने बताया कि जेवर गलाने वाले व्यापारी बिना बिल व रसीद के ही जेवरों की गलाई कर रहे हैं। यही वजह है कि जेवर गलाने वाले व्यापारियों की पहचान की जा रही है। इस दौरान उन्हें यह हिदायत भी दी जा रही है कि चोरी का माल गलाने पर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
गलाई वालों से व्यापारियों की रहती है मिलीभगत
दरअसल, शहर में कुछ सराफा व्यापारी बिना बिल व रसीद के ही जेवर खरीद लेते हैं। उनके द्वारा जेवरों की तस्दीक भी नहीं की जाती। चोरी के जेवरों का व्यापारी कच्चा बिल तैयार कर लेते हैं और उसे गलाने के लिए भेज देते हैं। TI का कहना है कि गलाई करने वाले व्यापारी के साथ ही जिन व्यापारी के जेवर हैं। उनसे भी पूछताछ की जाएगी।
चोरी के संदेह पर होगी कार्रवाई
TI सिदार ने बताया कि गलाई करने वाले व्यापारी से बिल व रसीद की जांच की जा रही है। जांच में पुलिस को शक हुआ, तब सोने-चांदी को जब्त कर चोरी के संदेह पर 41/1-4 के तहत कार्रवाई की जाएगी।

error: Content is protected !!