महा अष्ठमी पर देवी दुर्गा की विशेष पूजा आराधना,शाम होते ही मंदिरों में उमड़ी है दर्शनार्थियों की भीड़।

Spread the love

पखांजुर से बिप्लब कुण्डू



महा अष्ठमी पर देवी दुर्गा की विशेष पूजा आराधना,शाम होते ही मंदिरों में उमड़ी है दर्शनार्थियों की भीड़।लोग बाग प्रतीक्षा कर रहे है गरवा डांस के आनंद लेने।
शारदीय दुर्गा उत्सव का द्वितीय दिवस महा अष्ठमी पर देवी दुर्गा की विशेष पूजा आराधना की गई।पखांजुर सार्वजनिक दुर्गा मंदिर पुराना बाजार में महा अष्ठमी पूजा में देवी को 108 कमल के फूल अर्पित किए गए।देवी भक्तो ने भी इस दीन पूजा मंदिर में पहुचकर पूजा आराधना और पुष्पांजलि अर्पित की।


पखांजुर नगर में करीबन 6 से 7 स्थानों पर सार्वजनिक दुर्गा पूजा का आयोजन किये जा रहा है।वहीं देखा जाय तो परोलकोट में कुल 100 से भी ज्यादा पंडालों में दुर्गा पूजा का आयोजन किया गया है।जहाँ विविध प्रकार से देवी की उपासना कर उन्हें प्रसन्न किया जा रहा है।महा अष्ठमी पर ही महागौरी स्वरूप में देवी की आराधना की गई तो वहीं मंदिरों और घरों में कुमारी कन्याओ का पूजन किया गया।महा अष्ठमी पर हवन में आहुति अर्पित की गई।वही शाम के बाद संधि पूजा का आयोजन किया गया।


पूरे परोलकोट खासकर प्रवासी बंगालियों के इस सबसे बड़े उत्सव को लेकर गजब उत्साह नज़र आ रहा है।सुबह से ही श्रद्धालुओं नवीन वस्त्र पहनकर सज धजकर पूजा पंडाल पहुचे,जहा दुर्गा उत्सव के आनंद लेने के साथ पारंपरिक अड्डा में भी लोग शामिल हुए। हालांकि इस वर्ष कोरोना के कारण कोई नियम बदले है ।वही कोरोना काल के नियमो को मानते हुए पुराना बाजार पखांजुर में गरवा नृत्य का आयोजन किया गया था,लोगो ने इस गरवा नृत्य देखने की होड़ मची थी क्यों कि पखांजुर में प्रथम बार गरवा डांस का आयोजन किया गया।पखांजुर नव पल्ली के महिलाओ द्वारा इस डांस को किया गया करीबन महिलाओ ने एक माह तक तैयारी कर पखांजुर पुराना बाजार मंदिर प्रारंगन में इस डांस का प्रदर्शन किया।डांस उपरांत दर्शको की वाह वाही लूटी प्रथम बार बंगाली बहुल क्षेत्र परोलकोट में गरवा डांस का प्रदर्शन किया गया और लोगो ने जमकर आनंद उठाई।

error: Content is protected !!