मारने के बाद तार से पत्थर बांधकर इनटेक वेल मे फेंकी लाश आखिरकार लाश आ गया ऊपर नहीं छुप सका गुनाह पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद बाहर निकाला शव

Spread the love
किशोर महंत कोरबा

चालिस साल पहले बंद ही चुके कुसमुंडा के 30 फ़ीट गहरे इन टेक वेल में के पानी की सतह में लाश मिलने से सनसनी फैल गई है।घंटो मशक्कत के बाद पुलिस लाश को बाहर निकलवाई तो सीने में तार बंधा मिला।इसके साथ ही हत्या के बाद शव को तार से पत्थर बांधकर इन टेक वेल में फेंक दिए जाने की आशंका जताई जा रही है।

कुसमुंडा के आईबीपी के पास 80 के दशक में बंद हो चुकी इन टेक वेल में कुछ लोगो ने रविवार की सुबह ओंधे मुह पड़ी एक लाश देखी ।इस तरफ लोगो का आना जाना काम ही हित है।इत्तेफाक ही रहा की इस घटना की सूचना पुलिस तक पहुँच गई।। प्रथम दृष्टया ही मामला हत्या के प्रतीत ही रहा था और शव के बाहर निकलते ही संदेह यकीन में बदल गया।शव में बंधे तार से यह स्पष्ट हो गया कि ये मामला आत्महत्या का तो नही है।परिस्थितिजन्य साक्ष्य के आधार पर पुलिस ने जो थ्योरी तैयार की है उसके अनुसार हत्या के बाद शव को भरी वस्तु से बांधकर इस गहरे वेल(कुँए )मेंफेक दिया गया ताकि शव बाहर न आ सके। गुनाहगार कोई साक्ष्य छोड़ना नही चाहता था पर ऐसा हुआ नही और शव गहराई से उफन कर बाहर आ गया।बहरहाल पुलिस संदिग्ध मौत का मामला मानकर जांच पड़ताल कर रही है।
 बड़ी चुनौती है पुलिस के सामने लाश की पहचान करने की
कुसमुंडा पुलिस के समक्ष मृतक के पहचान की चुनोती है। शव एक सप्ताह पुराना लग रहा है।शव के सड़ गल जाने से स्थानीयस्तर पर होने वाले पोस्ट मार्टम रिपोर्ट से मौत के कारणों का खुलासा हो पाना मुश्किल है।पुलिस बिसरा प्रिजर्व कर रायपुर मेडिकल कॉलेज जांच के लिए भेजेगी।कुसमुंडा थाना समेत आस पास के लापता लोगो के सूची पुलिस खंगालेगी
error: Content is protected !!