कोटा फॉरेस्ट विभाग के बाउंड्रीवाल निर्माण में चल रहा भ्रष्टाचार

Spread the love

रमेश भट्ट

कोटा फॉरेस्ट विभाग के काष्ठागार में बन रहे बाउंड्रीवाल निर्माण में चल रहा भ्रष्टाचार का बाउंड्री वॉल के निर्माण में खुलेआम लाल ईटों का प्रयोग किया जा रहा है, जहां पर तमाम जांच और उच्च अधिकारियों के निगरानी के बावजूद भ्रष्टाचार करने वाले भ्रष्टाचार में लिप्त हैं।

जब इसके बाद भी संबंधित विभागीय अधिकारी मौन है। जब इसकी जानकारी काष्ठागार जिम्मेदार अधिकारी विपीन चौबे से जानकारी चाही तो उनका कहना था काम पुराना है 160 मीटर का बाउंड्रीवाल काम बचा है जिसको कराया जा रहा, जब इस सम्बंध में अधिकारी चौबे से पूछा गया कि काम का देख रेख किसके जिम्मे में है, तो उनका कहना था पास में ही फॉरेस्ट का बैरियर है वहाँ पर कर्मचारी बैठे- बैठे देखते रहते हैं,इससे अंदाजा लगाया जा सकता है, की कर्मचारी बैरियर में ही बैठकर काष्ठा गार का बाउंड्रीवाल कैसे होगा,निर्माण कार्य में जिम्मेदार ना ही कर्मचारी, लेवर मिस्त्री के भरोसे हो रहा निर्माण,
, जिसमें ठेकेदार द्वारा अनियमितता पूर्वक अधिकारियों की आंखों में धूल झोकते हुए निर्माण कराया जा रहा है । जहां विभागीय अधिकारी गुणवत्ता की बात करते हैं ,लेकिन कराए जा रहे वाल बाउंड्री निर्माण में घटिया किस्म के लाल ईट और घटिया किस्म के मसाला का प्रयोग किया जा रहा है।
इसके पूर्व दीवाल का निर्माण कराया गया है जो कभी भी धराशाई हो सकता है। बहरहाल जिम्मेदार अधिकारियों का अगर इस प्रकार सुस्त रवैया रहा तो जाहिर सी बात है बाउन्ड्री वाल भ्र्ष्टाचार की दीवार सप्ताह भर के अंदर खड़ा हो कर बारिश में भरभरा कर गिर सकता है,

error: Content is protected !!