विश्वाधारंम सौम्य एक नई उड़ान द्वारा विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस’ यानी ‘वर्ल्ड मेन्सट्रुअल हाइजीन डे 28 मई को वायरलेस बस्ती नहर पारा देवरीडीह, बरखदान देवरीखुर्द मुर्राभट्टा झुग्गी झोपड़ी बस्तियों में मनाया

आज विश्वाधारंम सौम्य एक नई उड़ान द्वारा विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस’ यानी ‘वर्ल्ड मेन्सट्रुअल हाइजीन डे 28 मई को वायरलेस बस्ती नहर पारा देवरीडीह, बरखदान देवरीखुर्द मुर्राभट्टा झुग्गी झोपड़ी बस्तियों में मनाया गया। इसका मकसद महिलाओं को माहवारी के दौरान साफ-सफाई के महत्‍व को समझाना है. सौम्य एक नई उड़ान की संस्थापिका सुश्री रंजीता दास ने बताया उनके द्वारा शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में भी लगातार जन जागरूकता अभियान चला कर लोगो को जागरूक करने का कार्य किया जा रहा रहा है आज ‘विश्व मासिक धर्म स्वच्छता दिवस’ मनाने का उद्देश्‍य युवा लड़कियों और महिलाओं को माहवारी के दौरान स्‍वच्‍छता का ध्‍यान रखने संबंधी ज़रूरी जानकारियां मुहैया कराना है, जिससे वे अंजाने में किसी जानलेवा बीमारी की चपेट में ना आ जाएं। गांव और शहरों में रहने वाली हजारों महिलाएं आज भी इससे जुड़ी कई ज़रूरी जानकारियों से अंजान हैं और उन्‍हें पता भी नहीं कि उनकी थोड़ी सी लापरवाही उन्‍हें हेपेटाइटिस बी, सर्वाइकल कैंसर, योनी संक्रमण जैसी गंभीर बीमारियों की तरफ धकेल सकता है. इसका असर महिलाओं पर शारीरिक ही नहीं, मानसिक रूप से भी लंबी उम्र तक परेशान कर सकता है। दुनियाभर में अभी भी कई ऐसे समाज हैं जहां महिलाएं इस पर खुलकर बात नहीं कर पातीं। ऐसे में पीरियड्स के दौरान किन बातों को ध्‍यान रखना है , महावारी मिथ्या, समस्या, समाधान के प्रति जागरूक किया गया एवं निःशुल्क 280 सैनेटरी पैड का वितरण किया गया, एवं साफ- सफाई के सहारे किन बीमारियों से बचा जा सकता है आदि जानकारियां उन्‍हें दिया गया।ऐसे में इस दिवस के मौके पर एक माहौल बनाने की कोशिश की गई कि लोगों को ये बताया जा सके कि मासिक धर्म कोई अपराध नहीं, बल्कि ये एक सामान्य शारीरिक प्रक्रिया है. जिस पर घर और समाज में खुलकर बात करने की ज़रूरत है, जिससे महिलाओं और बच्चियों को गंभीर और जानलेवा बीमारियों से बचाया जा सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published.